इन्टरनेट से जुड़े मुख्य शब्द और उनके अर्थ - शब्दावली 

Internet Vocabulary Words And Definitions in Hindi . दोस्तों आज का दौर इन्टरनेट का है और हम सभी को इसके बारे में अच्छे से पता होना चाहिए , जैसे किसी भी भाषा की के खुद के शब्द होते है उसी तरह इन्टरनेट की दुनिया में भी कुछ विशेष शब्द है जिनके बारे में आपको पता होना चाहिए . 

तो आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे इन्टरनेट की दुनिया में चलने वाले कुछ बहुत ही जरुरी शब्दों के बारे में . Internet Ke Hard Words Ke Hindi Arth . 


    इन्टरनेट से जुड़े जरुरी शब्द क्या है

    यहा हम सभी इन्टरनेट के जरुरी शब्दों के अर्थ आपको कैटोगरी वाइज बताएँगे जैसे इन्टरनेट से जुड़े जरुरी शब्द , वेबसाइट से जुड़े शब्द , सोशल मीडिया पर जुड़े शब्द और साइबर सिक्यूरिटी से जुड़े कठिन शब्द आदि


    इन्टरनेट पर काम आने वाले मुख्य शब्द और उनका अर्थ 


    Website (वेबसाइट) :- किसी आर्गेनाइजेशन या समूह की इन्टरनेट पर जानकारी के बहुत सारे पेज जो एक लिंक से से जुड़े होते है उसे वेबसाइट कहते है जैसे गूगल.कॉम , फेसबुक.कॉम 

    Web Page (वेबपेज) :- उस वेबसाइट का कोई पर्टिकुलर पेज एक वेब पेज कहलाता है जैसे Facebook.com/register . एक वेबसाइट में अनलिमिटेड पेज हो सकते है . 

    HTTP - हाइपरटेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल (http) जो HTML वेब पेजेज  को इंटरनेट पर पढ़ने में सक्षम बनाता है.

    HTTP - यह प्रोटोकॉल है जिसका उपयोग वेब ब्राउज़र से किसी वेबसाइट पर डेटा को सुरक्षित रूप से भेजने के लिए किया जाता है

    Browser (ब्राउज़र) :- यह एक एप्लीकेशन प्रोग्राम है जिसे हम कंप्यूटर में इनस्टॉल करते है और इसके बाद हम इन्टरनेट की कोई वेबसाइट देख सकते है . 

    इंस्टेंट मैसेजिंग :- इन्टरनेट के माध्यम से आप रियल टाइम चैटिंग कर सकते है , जिसमे मेसेज भेजने वाला व्यक्ति तुरंत सामने वाले को मेसेज भेज सकता है और उसका रिप्लाई भी तुरंत पा सकता है . यह लगभग सभी सोशल मीडिया साईट पर होता है . 

    IP :- इन्टरनेट प्रोटोकॉल एक एड्रेस होता है जिससे की दुनिया भर के कंप्यूटर में आपके कंप्यूटर की पहचान करवा सकता है . आईपी एड्रेस से पता चल जाता है कि दुनिया के किस कोने से कौनसे कंप्यूटर से मेसेज भेजा गया है . 

    मल्टीमीडिया :- जब किसी पेज पर ऑडियो , विडियो , टेक्स्ट और एनीमेशन का मिक्सअप हो तो उसे मल्टीमीडिया कहते है . 

     URL (यूआरएल ) :- URL की फुल फॉर्म है - Uniform Resource Locator . 

    Hyperlink (हाइपरलिंक ) :- Hyper Link वो लिंक होते है जो किसी अन्य पेज , फोटो या विडियो को खोलने मे काम आता है . 

    Server ( सर्वर ) :- इन्टरनेट पर जिस जगह वेबसाइट सेव रहती है उसे उसका सर्वर कहते है जैसे हमारी सभी गूगल आईडी और गूगल से जुड़ा डाटा गूगल के सर्वर पर सेव रहता है . 

    Download (डाउनलोड ) :- जब हम इन्टरनेट पर मोजूद कोई चीज को अपने कंप्यूटर या फिर फोन में सेव कर लेते है तो उसे डाउनलोड करना कहा जाता है . डाउनलोड फाइल को आप फिर बिना इन्टरनेट के भी देख सकते है .  

    Home Page (होम पेज ) :- किसी वेबसाइट का पहला पेज होम पेज कहलाता है /  

     Plug In  (प्लगइन) :- Plug in एडिशनल सॉफ्टवेयर फाइल्स होती है जिसको आप किसी वेबसाइट या सॉफ्टवेर में इनस्टॉल कर सकते है और उसके बाद उसके फीचर बढ़ा सकते है . 

    Upload (अपलोड ) :- जब आप लोकल स्टोरेज से कोई फाइल ऑनलाइन स्टोर करते है तो उसे अपलोड कहते है जैसे कि फेसबुक पर कोई विडियो या फोटो को डालना . अपलोड होने के बाद यह फाइल उस सर्वर पर सेव हो जाती है . बहुत से लोग बेकअप के लिए गूगल ड्राइव पर भी फाइल अपलोड करते है . 

    Surfing (सफर्रिंग ) :- इंटरनेट पर सर्च इंजन के द्वारा कोई चीज खोजना और उसकी डिटेल्स को जानना सर्फिंग कहलाता  है . 

    Search Engine (सर्च इंजन ) :- सर्च इंजन वो स्पेशल वेबसाइट होती है जो आपको इन्टरनेट पर किसी चीज की जानकारी देने में मदद करती है .  यह उस जानकारी से जुड़ी वेबसाइट के पेजेज आपको लाकर देती है . 

    कुछ जरुरी सर्च इंजन है - गूगल , बिंग , याहू आदि 

    Bandwidth :- किसी नेटवर्क में डेटा के पास होने की पर सेकंड स्पीड को हम बैंडविड्थ में नापते है जैसे 3G की तुलना में 5G की बैंडविड्थ बहुत ही तेज होगी . अत: अपलोड और डाउनलोड की स्पीड भी बहुत तेज होगी . 

    Cookie :-  कि जब हम इन्टरनेट पर ब्राउज़र के माध्यम से कुछ चीजे सर्च करते है या कोई वेबसाइट खोलते है तो उन चीजो और वेबसाइट के उन पेजेज को हमारा ब्राउज़र लोकल स्टोरेज में सेव कर लेता है जिससे कि अगली बार वेबसाइट खोलने पर वो फ़ास्ट खुल सके . इसी को हम कुकी कहते है . 


    Router (राऊटर ) :- राऊटर एक नेटवर्किंग कॉम्पोनेन्ट है जिसका प्रयोग नेटवर्क को जोड़ने में किया जाता है . 

    Modem (मॉडेम ) :- Modem का अर्थ होता है  मोडूलेटर /डीमोडूलेटर - यह एक नेटवर्किंग डिवाइस है नेटवर्क से जुड़े सभी डिवाइस को जोड़ने का कार्य करता है . यह टेलीफोन वायर से आने वाले एनालॉग सिग्नल को डिजिटल सिग्नल में बदलता है . यह डिजिटल सिग्नल 0 और 1 की फॉर्म में सेव रहते है . यह दोनों कार्य एक साथ कर सकते है जिसे हम मोडूलेटर /डीमोडूलेटर कहते है . 

    Optical Fiber  (ऑप्टिकल फाइबर ) :- हाई स्पीड नेट को प्राप्त करने के लिए यह विशेष तरह की वायर होती है जो 4G से ऊपर स्पीड वाली नेट प्रोवाइड करने में सहायक है . 

    Header :-  किसी वेबसाइट का सबसे ऊपरी भाग को हम हैडर कहते है . इसमे वेबसाइट के मुख्य लिंक , लोगो और हैडिंग , सर्च बॉक्स होते है . यह वेबसाइट के सभी पेजेज में समान रहता है .  

    Footer :- वेबसाइट के निचे वाली पार्ट को फूटर कहते है . इसमे भी आप 

    ISP : ISP की फुल फॉर्म होती है - इन्टरनेट सर्विस प्रोवाइडर . ये वे टेलिकॉम कम्पनी होती है जो आपको इन्टरनेट की सुविधा प्रदान करती है जैसे एयरटेल , जिओ , वीआई आदि . 

    Server :- वेबसाइट और उससे जुड़े पेजेज भी इन्टरनेट पर एक बड़ी हार्ड डिस्क में सेव रहते है जिसे हम सर्वर कहते है . जब हम यह सुनते है आज सर्वर डाउन है इसका अर्थ है कि उस सर्वर पर बहुत ज्यादा ट्रैफिक हो गया है और फिर इसी कारण से वो सर्वर डाउन हो जाता है . 

    Email :- ईमेल मीन्स इलेक्ट्रॉनिक मेल  जिसके माध्यम से आप इन्टरनेट की दुनिया में एक कंप्यूटर से दुसरे कंप्यूटर पर लैटर भेज सकते है जिसका फॉर्मेट डिजिटल होता है . यह बहुत ही तेज होता है . 

    साइबर सुरक्षा में काम आने वाले शब्द और उनका अर्थ  



    Capcha :- कैप्चा के द्वारा किसी फॉर्म को भरते समय मशीन को रोका जाता है . यह इस तरह बनाया जाता है कि आटोमेटिक फॉर्म फिलिंग को रोक सके जो मशीन रैंडम डेटा डालकर करती है .  कैप्चा कोड की हिंदी जानकारी आप यहा से पढ़ सकते है . 

    Add ware :- ऐसे आटोमेटिक सॉफ्टवेयर जो संचालित होने पर आपको खुद के हिसाब से एड्स दिखाते है .

    VPN : विर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क :- वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क यानी वीपीएन के द्वारा आप अपने सिस्टम के आईडी को किसी दुसरे देश की फेक आईडी से बदल सकते है . इसके साथ ही आप नेटवर्क पर एक सिक्योर कनेक्शन भी अपने लिए बना सकते है . 

    Firewall :- एक नेटवर्क की वो सुरक्षा प्रणाली जो आने जाने वाले डेटा को सुरक्षा प्रदान करती है . 

    Male ware :- यह उपकरण और हार्डवेयर को नुकसान पहुँचाने के लिए बनाये जाते है और फिर नेटवर्क में छोड़े जाते है जैसे वायरस और रैनसमवेयर .

    Crypto Graphy :- इसके द्वारा इनफार्मेशन को जटिल कोड में बदला जाता है और फिर भेजा जाता है जिससे की बीच में इसे कोई पढ़ ना सके .

    Worm:- एक बहुत ही खतरनाक प्रोग्राम जो कंप्यूटर की हार्ड डिस्क और मेमोरी में खुद को लगातार बढाता रहता है , इससे कंप्यूटर के हार्डवेयर को बहुत ज्यादा नुकसान हो सकता है . 

    टेलनेट :- इन्टरनेट के माध्यम से आप जब अपने कंप्यूटर से किसी दुसरे कंप्यूटर के अन्दर घुस कर उसे अपने कण्ट्रोल में लेना चाहते है तो यह काम telnet की मदद से संभव हो सकता है . 

    FTP - आप इन्टरनेट पर जो भी फाइल्स देखते है वे सभी अपलोड की गयी फाइल्स होती है और उसे हम FTP (फाइल ट्रान्सफर प्रोटोकॉल ) के द्वारा ही अपलोड कर सकते है . 

    Web Bot - ऐसे प्रोग्राम जो आपकी मर्जी के बिना भी आपकी वेबसाइट के कोड में जुड़ जाते है और एक ही काम को बार बार करते रहते है जैसे फालतू की फाइल्स , फोल्डर बनाना या फर्जी ईमेल करना आदि . 

    2 Way Authentication :- सिक्यूरिटी के दो चरण जिससे की आपकी पहचान होती है . इसमे आपको पहले आपका यूजर नाम फिर पासवर्ड पूछा जाता है और फिर आपके रजिस्टर मोबाइल या  ईमेल आईडी पर एक ओटीपी भेजा जाता है जिसकी सही जानकारी देने पर ही आपका वेरिफिकेशन पूर्ण माना जाता है . 

    यह सिक्यूरिटी के लिए बहुत ही जरुरी फीचर है . 


    सोशल मीडिया पर फेमस शब्द और उनके अर्थ 


    DP - DP की फुल फॉर्म होती है - डिस्प्ले फोटो अर्थात आपकी प्रोफाइल फोटो . आप इसकी जगह Avatar भी लगा सकते है जो एक करैक्टर होता है .

    Block - ब्लाक का अर्थ होता है कि सामने वाले व्यक्ति को पूरी तरह से अपनी प्रोफाइल से हटा देना , इसके बाद वो आपकी प्रोफाइल तक नही देख पायेगा .

    Spam - ऐसे मेसेज जो बहुत से लोगो को भेजे जाते है और जिसमे किसी व्यक्ति या प्रोडक्ट का प्रमोशन छिपा होता है .

    Viral : जब कोई फोटो या विडियो बहुत से लोग एक दुसरे को शेयर करते है तो वो विडियो या फोटो वायरल कहलाती है .

    DM - DM का अर्थ है डायरेक्ट Message . यह प्राइवेसी के लिए होता है कि आप पब्लिकली ना कह कर पर्सनल मेसेज के द्वारा लिखे .

    Ban - इसका अर्थ है आपका अकाउंट सोशल मीडिया साईट ने बेन कर दिया या प्रतिबंध लगा दिया . यह तब होता है जब आपके बनाये गये रूल्स को बार बार तोड़ते है .

    Emoji - एमोजी आपके एक्सप्रेशन और बातो को बताने का शेप माध्यम है . हर तरह की प्रतिक्रिया के आपको एमोजी मिल जायेंगे .

    Mute - म्यूट एक तरह से अनदेखा करने को कहते है . आप यदि कोई नोटिफिकेशन या मेसेज को म्यूट करते है तो उसके मेसेज आयेंगे पर आपको दिखाई नही देंगे .

    Click Bet :- Click करवाने के लिए जानबूझ कर गुमराह करने वाली फोटो बनाना जिससे उस लिंक का कोई लेना देना ना हो .

    Notifications :- सोशल मीडिया साईट पर जब कोई चीज आपसे जुडी होती है तो खुद सोशल मीडिया वेबसाइट आपको नोटीफिकेशन के माध्यम से आपको जानकारी देगा .

     

    Conclusion (निष्कर्ष )

    तो दोस्तों यहा आपने इन्टरनेट से जुड़ी मुख्य शब्दावली और उससे जुड़े शब्दों के बारे में विस्तार से जाना जो आपको इन्टरनेट की दुनिया को समझने में काफी मदद करेगा . 

    यहा अपने वेब ब्राउज़र पे काम आने वाले जरुरी शब्द , इन्टरनेट सिक्यूरिटी पर काम आने वाले हार्ड वर्ड्स , सोशल मीडिया पर काम आने वाले फेमस शब्दों की जानकारी आपको दी है . 

    आशा करता हूँ आपको यह पोस्ट बहुत ही ज्ञानवर्धक लगी होगी और आप इन्टरनेट पर अपनी शब्दावली को सुधार लेंगे .  

    ➜ जानिए गूगल फोटो की  हिंदी जानकारी

    ➜  कंप्यूटर में फंक्शन keys क्या होती है





     

    Post a Comment

    Previous Post Next Post